Monday, 28 July 2014

वैसे एकसपेरिमेंट कभी-कभी चल जाता है -हरमन बावेजा


हरमन बावेजा आज एक मंजे हुए और सुलझे हुए कलाकारों की श्रेणी में आते है काफी समय से उनकी कोई फिल्म नहीं आयी लेकिन काफी इंतजार  के बाद उनकी फिल्म ढिश्कियाऊं प्रदर्शन के लिए तैयार है गत-दिनों ईरोस इंटरनेशनल के आफिस में उनसे मुलाकात हुई, प्रस्तुत हैं मुलाकात के कुछ अंश:
हरमन जी इस फिल्म में आपके किरदार के बारे में बताईये?
इस फिल्म में मैं एक गैंगस्टर का किरदार निभा रहा हूं जिसका नाम है विककी कारतूस जिसका कहना है मैं एक छर्रा हूं छर्रा... पिस्तौल में डाल ट्रिगर दबा और सबको फोड़ डाल। ये एक ऐसे गैंगस्टर की कहानी है जो स्कूल के वकत एक इनोसेंट बच्चा होता है जिसके स्कूल में एक मोटा पुल नाम का गैंगस्टर सबको परेशान करता रहता है जिसके सपने को मैं पूरा नहीं होने देता।
हरमन जी आपको नहीं लगता है कि आपने अपने एकिटंग कैरियर के दौरान काफी सारे एकसपेरिमेंट किए है?
बिल्कुल सही कहा आपने मैं अभी तक एकसपेरिमेंट ही तो करता आ रहा हूं,  इस बात पर मेरा भी ध्यान नहीं था एक बार लिफ्ट में मुझे अनिल कपूर साहब मिल गए और कहने लगे अरे डारलिंग तू हिंदी फिल्म कर ना... कभी तू फ्यूचर में जाता है कभी िाकेट खेलता है कभी 12 के साथ रोमांस करता है। उस 30 सेकेंड में अनिल कपूर ने मेरा ध्यान हिंदी फिल्म यानी एक फुल इंटरटेनमेंट फिल्म की तरफ खींचा। फाइनली आई एम डूईंग ढिश्कियाऊं ...  वैसे एकसपेरिमेंट कभी-कभी चल जाता है और अगर नहीं चला तो...।
पहले के बालीवुड और अभी के बालीवुड में कया फर्क है?
बहुत फर्क है बहुत कम समय में इंटरनेट और मोबाईल फोन ने हमारी जिंदगी बदल दी है, आज नई टेकनालाजी की वजह से गांव का बच्चा भी बता देगा कि बैड पिट कौन है।
आपकी फिल्म में इस बार प्रियंका चोपड़ा जैसी बड़ी हीरोईन की बजाए बिल्कुल नई लड़की आएशा खन्ना हैं उनके साथ काम करके कैसा लग रहा है?
न्यूकमर के साथ काम करके बड़ा मजा आता है आफकोर्स ये आयशा की पहली फिल्म है शूटिंग के दौरान उन्हें छोटी-छोटी चीजे बताना बड़ा अच्छा लगता था।
सनी देवल के साथ काम करके कैसा लगा?
बहुत अच्छा,  उनके साथ मेरे काफी सारे सीन हैं बस इस फिल्म में हमारी यही कहानी है कि जिंदगी बिलकुल सांप सीढ़ी के खेल की तरह है... सीढ़ी चढ़े तो मौत... और सांप ने खाया तो मौत.
हर फिल्म में आपके डांस की भी चर्चा होती है। लोगों का कहना है कि आपके डांस में ऋतिक रोशन की झलक मिलती है इस फिल्म में कैसा डांस है?
इस फिल्म में बिल्कुल ऋतिक जैसा डांस नहीं है इस बार हरमन बावेजा स्टाईल वाला डांस है इसमें एक गाना बास्को सीजर ने किया है, दो गाने रैंजू ने।
इस फिल्म के टाईटल के बारे में कया कहना चाहेंगे मैंने सुना है इस फिल्म का टाईटल आपने दिया है?
दरअसल इस फिल्म का टाईटल पहले मेरे किरदार के नाम पर रखा गया था विककी कारतूस लेकिन मुझे लगा ये फिल्म के साथ न्याय नहीं है। कयोकि ये सिर्फ मेरी कहानी नहीं है इसमें और भी किरदार है जिसके हिसाब से ढिश्कियाऊं मुझे अच्छा लगा और वैसे भी काफी समय से ये टाईटल मेरे दिमाग में था।
दर्शकों से कया कहना चाहेंगे?
यही कि मैने इस फिल्म को 2-3 साल दिए है आप कमसे कम 2-3 घण्टे निकालकर थियेटर तक तो जाएं।      
-अरुण कुमार कमल

No comments:

Post a Comment